Tired of hypocrisy

एक समय था जब फेमिनिज्म, सेकुलरिज्म, ह्यूमन राइट्स, मर्क्सिस्म मेरे पसंदीदा टॉपिक हुआ करते थे - लेकिन आज ये शब्द सुनते या देखते ही एक अजीब सी घृणा होती है